बचपन में टीवी देखने के लिये तरसने वाला लड़का आज एक जाने माने न्यूज़ चैनल का मालिक है


Rajat Sharma: India TV News

आज हम जिस प्रतिष्ठित हस्ती के बारे में बात करने जा रहे हैं वो अपने आप में संघर्ष और कामयाबी की मिसाल हैं। उनके शो को देखने की बेताबी हम सबने अक्सर महसूस की है। जी हाँ हम बात कर रहे हैं इंडिया टीवी न्यूज़ चैनल के संस्थापक रजत शर्मा की। आप लोगो में से शायद कुछ को ही पता होगा कि बचपन में उनके पडोसी अपना यहाँ उन्हें टीवी नहीं देखने देते थे।

उनके पिता एच बी शर्मा मूल रूप से राजस्थान में भीलवाड़ा से थे। जो रोजगार के लिए दिल्ली के सब्जी मंडी इलाके में आकर बस गए थे। यही पर रजत शर्मा का जन्म हुआ था। वे 6 भाइयों और 1 बहन में सबसे छोटे हैं। वह अपने माता-पिता और भाई-बहनों के साथ एक कमरे में रहते थे जहां पानी और बिजली की कोई सुविधा नहीं थी। रजत शर्मा अपने बचपन के दिनों को याद करते हुए बताते हैं कि हमारा हर दिन एक संघर्ष के जैसा होता था जहाँ हमे पानी और जरूरत की चीजों के लिए जूझना पड़ता था।

उन्होंने अपनी प्राथमिक शिक्षा दिल्ली नगर निगम के सरकारी स्कूल से प्राप्त की। घर में बिजली की सुविधा नही होने के कारण वो पास के रेलवे स्टेशन के बल्ब के नीचे पढ़ाई करते थे। रजत शर्मा को जिंदगी में उम्मीद की रोशनी तब दिखाई दी जब वे वाणिज्य में परास्नातक की डिग्री पूरी करने के बाद जनार्दन ठाकुर के संपर्क में आये। जिन्होंने आनंदबाजार पत्रिका छोड़कर अपना काम शुरू किया था और उन्हें किसी की जरूरत थी। रजत उनके लिए काम करने लग गये जिसके लिए उन्हें 400 रुपये की मासिक तनख्वाह मिलती थी।
Rajat Sharma
source
काम करते करते रजत को Onlooker मैगजीन के लिए अपनी पहली कहानी लिखने का मौका मिला और इस एक कहानी के लिए उन्हें 300 रुपये मिले। जल्द ही वे Onlooker मैगजीन में काम करने लगे और अपनी मेहनत और हुनर के दाम पर chief-of-beuro के पद पर काबिज हो गए और उसके 1 साल बाद ही 1985 में उन्हें एडिटर बना दिया गया। इसके बाद रजत ने ‘Sunday Observer’ और फिर ‘The Daily’ के लिए 10 साल तक काम किया।
Rajat Sharma
source
Zee Network के चेयरमैन सुभाष चंद्रा और गुलशन ग्रोवर के साथ फ्लाइट में छोटी सी मुलाकात ने रजत शर्मा की जिंदगी की दिशा बदल दी जब उन्होने ‘आप की अदालत’ नाम के रोचक साक्षात्कर कार्यक्रम का सुझाव दिया। 13 मार्च 1992 को उनका यह कार्यक्रम पहली बार प्रसारित हुआ। इसके बाद रजत ने पीछे मुड़कर नही देखा और उनकी सफलता की कहानी हमारे लिए प्रेरणाश्रोत है।
Rajat Sharma: Aap ki Adalat
source
बचपन की एक घटना को याद करते हुए बताते हैं कि जब टीवी की हमारे देश मे शुरुवात हुई थी। उनका परिवार पड़ोस के एक घर मे टीवी देखने जाते थे। लेकिन एक दिन उन्होनें रजत को अपने घर के अंदर आने से मना कर दिया। वो बहुत दुखी मन से वापस आये और अपने पिता को सारी बात बताई। उनके पिता ने बेटे को समझाते हुए कहा कि जिंदगी में कुछ ऐसा काम करना कि तुम खुद टीवी पर आओ जिससे सभी लोग तुम्हे देखें। शायद यही बात उनके दिल मे घर कर गयी और आगे चलकर उन्होंने इंडिया टीवी जैसे बड़े न्यूज़ चैनल की स्थापना कर डाली।

रजत शर्मा अपने पिता द्वारा दी गयी सीख को याद करते हुए बताते हैं कि “मेरे पिता जी ने कहा कि जिंदगी में हमेशा लड़ते रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि हमेशा निर्भीक रहना चाहिए और कभी उम्मीद नही छोड़ना चाहिए।”

Rajat Sharma: India TV News
source
टीवी और न्यूज़ की इंडस्ट्री में अपनी अलग पहचान बनाने वाले रजत शर्मा की मेहनत और लगन को हम सलाम करते हैं। उनकी सफलता और संघर्ष उन सबके लिए प्रेरणास्रोत है जो विपरीत परिस्थितियों में अपना हौसला गवाँ बैठते हैं और अपने जिंदगी को किस्मत के सहारे छोड़ देते हैं।

What's Your Reaction?

FAIL FAIL
0
FAIL
LOVE LOVE
1
LOVE
WTF WTF
0
WTF
OMG OMG
1
OMG

Comments 0

Your email address will not be published. Required fields are marked *

बचपन में टीवी देखने के लिये तरसने वाला लड़का आज एक जाने माने न्यूज़ चैनल का मालिक है

log in

Captcha!
Don't have an account?
sign up

reset password

Back to
log in

sign up

Captcha!
Back to
log in
Choose A Format
Personality quiz
Series of questions that intends to reveal something about the personality
Trivia quiz
Series of questions with right and wrong answers that intends to check knowledge
Poll
Voting to make decisions or determine opinions
Story
Formatted Text with Embeds and Visuals
List
The Classic Internet Listicles
Meme
Upload your own images to make custom memes
Video
Youtube, Vimeo or Vine Embeds
Audio
Soundcloud or Mixcloud Embeds